रविवार, सित 22

  •  
  •  

विज़न 2021

KHS golden Jubilee Logo
केंद्रीय हिंदी शिक्षण मंडल द्वारा निर्धारित उद्देश्यों एवं लक्ष्यों के तहत हिंदी के अखिल भारतीय शिक्षण-प्रशिक्षण, अनुसंधान एवं अंतरराष्ट्रीय प्रचार-प्रसार की दिशा में लगातार कार्य करते हुए 19 मार्च, 2011 को केंद्रीय हिंदी संस्थान ने आधी सदी का सफ़र पूरा किया। गौरव और उत्साह के इस ऐतिहासिक अवसर को यादगार बनाने के लिए दिनांक 28 मार्च, 2011 को संस्थान का स्वर्ण जयंती समारोह आयोजित किया गया।

इस अवसर पर हिंदी के वरिष्ठ विद्वानों एवं विशिष्ट अतिथियों के प्रेरक उद्बोधन और स्वदेशी-विदेशी छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत रंगारंग सास्कृतिक कार्यक्रमों के साथ-साथ संस्थान की स्वर्णिम विकास यात्रा और भविष्यगामी संभावनाओं पर केंद्रित एक लघु फ़िल्म का प्रदर्शन भी किया गया।

इस फ़िल्म के माध्यम से केंद्रीय हिंदी संस्थान का दस-सूत्रीय ‘विज़न-2021’ प्रस्तावित किया गया।


 ‘विज़न-2021’ के बिंदु इस प्रकार हैं-

1.  आधुनिकतम संचार माध्यमों और सूचना प्रौद्योगिकी का हिंदी भाषा शिक्षण और दूरस्थ शिक्षा के लिए अधिकाधिक प्रयोग
2.  यूनिकोड का व्यापक प्रचार और प्रसार
3.  एक विशाल पोर्टल और बहुभाषी वेबसाइट
4.  पॉप्युलर कल्चर के महत्त्व का रेखांकन, फ़िल्म लोक-नाट्य, कविसम्मेलन और मुशायरे
5. हिंदी की बोलियों का संरक्षण हो तथा देश-विदेश में नए केंद्रों की स्थापना
6.  देश-विदेश के हिंदी के प्रख्यात साहित्य शिल्पियों के व्यक्तित्व और कृतित्व पर फ़िल्मों का निर्माण
7.  विश्व भर की संस्थाओं और विश्वविद्यालयों से सकर्मक जुड़ाव
8.  मानकीकृत पाठ्यक्रमों का निर्माण एवं संचालन
9.  विश्व के महान साहित्यिक कृतियों और ज्ञान-विज्ञान के ग्रंथों का हिंदी अनुवाद
10.  जिन संस्थाओं के पास साधनों का अभाव है, हिंदी के विकास के लिए उनकी मदद