सोमवार, अग 19

  •  
  •  

रघुवीर चौधरी

raghuveer-chaudhary

डॉ. रघुवीर चौधरी हिंदी भाषा और साहित्‍य के क्षेत्र में एक जाना-पहचाना नाम है। हिंदी में बड़ी मात्रा में प्रामाणिक और विशिष्‍ट लेखन करने वाले डॉ. चौधरी एक महत्‍वपूर्ण भारतीय लेखक के रूप में स्‍वीकृत हैं। डॉ. रघुवीर चौधरी का जन्म 5 दिसम्बर, 1938 को हुआ।

कार्यक्षेत्र

गुजरात विश्‍वविद्यालय के हिंदी विभाग में प्रोफेसर एवं विभागाध्‍यक्ष के रूप में इन्‍होंने हिंदी भाषा और साहित्‍य को उसकी अद्यतन भूमिकाओं से जोड़ा। इन्‍होंने कविता, उपन्‍यास, कथा, नाटक आदि अनेक विधाओं में मौलिक लेखन-कार्य किया है। ‘अमृता’, ‘वेणुवत्‍सला’, ‘सोमतीर्थ’, ‘रुद्रमहालय’ आदि इनकी प्रमुख कृतियाँ हैं।

सम्मान एवं पुरस्कार

डॉ. रघुवीर को साहित्‍य अकादमी के कार्यकारी मंडल और भारतीय प्रेस परिषद की सदस्‍यता प्राप्‍त है। साहित्‍य अकादमी ने अपना उच्‍चतम सम्‍मान ‘महत्‍तर सदस्‍यता’ भी इन्‍हें प्रदान किया है। डॉ. चौधरी हिंदी की सेवा के लिए ‘सौहार्द्र सम्‍मान’, ‘दर्शक सम्‍मान’, ‘क.मा. मुंशी स्‍वर्ण पदक’ और ‘गौरव पुरस्‍कार’ से विभूषित किए जा चुके हैं। डॉ. रघुवीर चौधरी को उनके अवदान के लिए महापंडित राहुल सांकृत्‍यायन पुरस्‍कार से सम्‍मानित करते हुए केंद्रीय हिंदी संस्थान हर्ष-विभोर है।

संपर्क

ए-6, पूर्णेश्‍वर फ्लैट्स, गुलबाई टेकरा,

अहमदाबाद-380015 (गुजरात)


फोन  –   09428510438, 079-26303132, 079-26305959