बुधवार, अक्टू 16

  •  
  •  

दिलीप कुमार चौबे

dilip-kumar-chaube

श्री दिलीप कुमार चौबे हिंदी पत्रकारिता का एक ऐसा सम्‍मानित नाम है जिनके लिए पत्रकारिता एक व्‍यवसाय मात्र नहीं, बल्कि एक गंभीर वैचारिक उद्यम है। श्री दिलीप कुमार चौबे का जन्म 1 दिसम्बर, 1953 को हुआ।

कार्यक्षेत्र

दैनिक पत्र ‘राष्‍ट्रीय सहारा’ से विशेष तौर पर जुडे रहे श्री चौबे ने देश के विभिन्‍न समाचार-पत्रों में प्रचुर मात्रा में लेखन-कार्य किया। आपने ‘नवभारत टाइम्‍स’, ‘जनसत्‍ता‘, ‘हिंदुस्‍तान’, ‘अमर उजाला’, ‘पंजाब केसरी’ और समाचार ऐजेंसी ‘भाषा’ के लिए लंबे समय तक पत्रकारिता की। श्री चौबे ने देश-विदेश के अनेक शीर्ष व्‍यक्तित्‍वों से संवाद किया है। इन्‍होंने विशेष अवसरों पर अंतरराष्‍ट्रीय घटनाओं की प्रमाणिक रिपोर्टिंग की और अनेक वृत्‍त चित्रों का पटकथा लेखन किया।
श्री चौबे ने ‘राष्‍ट्रीय सहारा’ के विशेष परिशिष्‍ट ‘हस्‍तक्षेप’ और साहित्‍य कला विचार के विविध आयामों से जुडे़ साप्‍ताहिक पृष्‍ठ ‘मंथन’ के प्रमुख रूप में पत्रकारिता में विचार के अनिवार्य महत्‍व को स्‍थापित किया है।

सम्मान एवं पुरस्कार

एक प्रतिबद्ध पत्रकार के रूप में जाने-माने श्री दिलीप कुमार चौबे को 'गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार' से सम्मानित कर 'केंद्रीय हिंदी संस्थान'  गौरव का अनुभव करता है।

संपर्क

135 बी, उना इंक्‍लेव, मयूर विहार,

फेज-1, दिल्‍ली-110091

फोन  –    09811553649,
ई-मेल–     यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.