रविवार, सित 22

  •  
  •  
आप यहाँ हैं:घर क्षेत्रीय केंद्र हैदराबाद केंद्र शैक्षिक कार्यक्रम

शैक्षिक कार्यक्रम हैदराबाद केंद्र

केंद्र ने स्थापना के समय से ( 1976 ) से अब तक इस केंद्र के कार्यक्षेत्र में आने वाले प्रांतों के लिए विभिन्न प्रकार के पाठ्यक्रमों का (नवीकरण पाठ्यक्रम, उच्च नवीकरण पाठ्यक्रम, पारंगत, प्रवीण नियमित पाठ्यक्रम, कार्यशाला, संचेतना शिविर आदि) आयोजन किया है। अब तक (नवंबर 2010) कुल 330 पाठ्यक्रम आयोजित किए गए हैं, जिनमें कुल 10,006 प्रशिक्षणार्थियों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है।
वर्ष 1976 से 2010 तक 284 नवीकरण पाठ्यक्रम आयोजित हुए जिनमें कुल 8863 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

2- उच्च नवीकरण पाठ्यक्रम - 1976 से आज तक केरल, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोवा, अंडमान निकोबार द्वीप समूह आदि राज्यों के लिए कुल 13 पाठ्यक्रम आयोजित किए गए जिनमे कुल 309 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

पूर्ण सत्रीय पाठ्यक्रम (पारंगत, प्रवीण)

3- हिंदी शिक्षण पारंगत नियमित पाठ्यक्रम - ( बी. एड. स्तरीय )

केंद्र के विकास में सत्र 2002- 03 एक महत्वपूर्ण वर्ष रहा, क्योंकि इस सत्र में पूर्ण सत्रीय पाठ्यक्रम के रूप में बी. एड़. स्तरीय हिंदी शिक्षण पारंगत नियमित पाठ्यक्रम का शुभारंभ हुआ। जिसमें अब तक केरल, कर्नाटक, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, मणिपुर आदि प्रांतों के 303 प्रशिक्षणार्थियों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है तथा 2007-08 में प्रवीण पाठ्यक्रम में 25 प्रशिक्षाणार्थियों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया।

4- हिंदी भाषा संचेतना शिविर -

अंड़मान निकोबार द्वीप समूह कीह विशेष भाषाीयी परिस्थिति को दृष्टि में रखकर डीआईईटी के द्विवर्षीय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के द्वितीय वर्ष के प्रशिक्षणर्थियों के लिए 10 दिनों का हिंदी-भाषा-संचेतना कार्यक्रम 2006 में प्रारंभ किया, जो प्रति वर्ष नियमित रूप से चल रहा है। अब तक 5 शिविर आयोजित हो चुके हैं जिनमें कुल 289 प्रशिक्षणार्थियों ने भाग लिया।

5- प्रयोजनमूलक पाठ्यक्रम -

वर्ष 1976 से अप्रैल 2010 तक आंध्र प्रदेश के डाकियों, बैकं अधिकारियों दक्षिण मध्य रेलवे के पेंटरों उदघोषकों, चलपरीक्षकों तथा विविध कार्यालायों के लिए अनुवाद सिद्धांत और प्रयोग, टिप्पणी एवं प्रारूप लेखन आदि प्रयोजनमूलक पाठ्यक्रम आयोजित किए गये। अब तक कुल 15 पाठ्यक्रम आयोजित किऐ गये जिनमें कुल 339 प्रशिक्षणार्थियों ने भाग लिया।


6- पारंगत पत्राचार पाठ्यक्रम -

वर्ष 1976 से 2010 तक हैदराबाद केंद्र में कुल पारंगत पत्राचार पाठ्यक्रम के 16 संपर्क पाठ्यक्रम आयोजित किए गये।


7- हिंदी कार्यशाला

  1. वर्ष 1981-82 में हैदराबाद में हिंदी उच्चारण वर्तनी से संबंधित कार्यशाला आयोजित की गयी, जिसमें कुल 20 प्रशिक्षार्थियों ने भाग लिया
  2. 23-25 मार्च, 1987 को हिंदीतर प्रदेशों के लिए हिंदी शिक्षण सामग्री निर्माण कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें 20 प्रतिभागी सम्मिलित हुए।
  3. वर्ष 2006-07 में दि. 24-26 नवंबर, 2006 तक लोयोला कॉलेज, चेन्नई में तमिलनाडु के विद्यालयों के हिंदी शिक्षकों के लिए एक कार्यशाला आयोजित की गई जिसमें 38 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

8.शिक्षण समग्री निर्माण -

केंद्र के शैक्षिक सदस्यों ने पाठ्यक्रमों के लिए आवश्यकतानुसार समय-समय पर शिक्षण समग्री का निर्माण कर वितरित किया है। इसमें भाषा विज्ञान, हिंदी संरचना, भाषा शिक्षण विधि, कौशल पाठ निर्माण आदि के अलावा निम्नलिखित महत्वपूर्ण सामग्री भी शामिल है।

  1. व्यावहारिक हिंदी संरचना पुस्तिका
  2. वाचन पाठ
  3. उच्चारण पाठ
  4. रेलवे के उदघोशकों के लिए शिक्षण सामग्री
  5. वार्तालाप प्रशिक्षण, टिकट कलेक्टरों के लिए
  6. डी. एड. कालेज के हिंदी प्राध्यापकों के लिए उच्च नवीरकण पाठ्यक्रम की पाठ्यक्रम सामग्री
  7. जूनियर कालेज के प्राध्यापकों के लिए शिक्षण सामग्री
  8. प्रयोजनमूलक पाठ्यक्रम की शिक्षण सामग्री
  9. डाकियों के लिए शिक्षण सामग्री